अंतर्राष्ट्रीय कानून के प्रति तीसरे विश्व के दृष्टिकोण [Third World Approaches to International Law (TWAIL)], एक ऐसा आंदोलन है जो अंतर्राष्ट्रीय क़ानून के क्षेत्र में कार्यरत उन सभी अध्येताओं और व्यक्तियों को जोड़ता है, जो वैश्विक दक्षिण (“ग्लोबल साउथ”) से जुड़े मुद्दों से सम्बद्ध हैं। TWAIL के हस्तक्षेप के सामान्य विषय निम्न हैं: अंतर्राष्ट्रीय कानून की औपनिवेशिक विरासतों के पुनरीक्षण और डीकॉन्स्ट्रक्ट करना; वैश्विक-दक्षिण के लोगों की जीवंत वास्तविकताओं के विउपनिवेशिकारन कासाथ देना; और अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था, जो उनके जीवन को नियंत्रित करते हैं, उसके मौलिक परिवर्तनों या उससे विच्छेद का समर्थन करना